पूरी धूमधाम और भव्यता से मनाया जाएगा मंडी अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि मेला

0
105

मंडी(लो.स.वि.):-  मंडी का अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि मेला 2021 पूरी धूमधाम और भव्यता से मनाया जाएगा। उपायुक्त एवं शिवरात्रि मेला समिति के अध्यक्ष ऋग्वेद ठाकुर की अध्यक्षता में मेले के आयोजन के संबंध में हुई मेला समिति की आम सभा की बैठक में इस बारे सर्वसम्मति से फैसला लिया गया। मंडी के विपाशा सदन में आयोजित इस बैठक में समिति के सरकारी व गैर सरकारी सदस्यों ने भाग लिया और कोरोना की छाया से निकल कर महोत्सव के सफल आयोजन के लिए अपने सुझाव दिए।

ऋग्वेद ठाकुर ने बताया कि शिवरात्रि महोत्सव में पहले की तरह सभी गतिविधियां आयोजित की जाएंगी, हालांकि गतिविधियों के स्वरूप को लेकर संबंधित उप समितियां फैसला लेंगी। उन्होंने कहा कि महोत्सव में कोविड प्रोटोकॉल और एसओपी का पूरा पालन सुनिश्चित किया जाएगा।

सभी पंजीकृत देवी देवताओं को दिया जाएगा न्यूंद्रा
उन्होंने बताया कि मेले में सभी 216 पंजीकृत देवी देवताओं को बुलाया जाएगा। देवी देवताओं व उनके साथ आए देवलुओं के लिए सभी जरूरी प्रबंध किए जाएंगे ।

हिमाचल के पूर्ण राज्यत्व के 50 साल की स्वर्णिम यात्रा पर केंद्रित होगी थीम
उपायुक्त ने कहा कि मेले की थीम हिमाचल के पूर्ण राज्यत्व के 50 साल की स्वर्णिम यात्रा पर केंद्रित रहेगी। इसलिए सभी आयोजनों के साथ स्वर्णिम शब्द जुड़ा रहेगा। इस बार मेले को भी स्वर्णिम अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि मेला 2021 लिखा जाएगा।

उपसिमितियां देखेंगी तैयारियों से जुड़ा काम
ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि मंडी अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव 2021 की तैयारियों को लेकर पहले की तरह संबंधित उपसमितियां अपने अपने दायित्वों का निर्वहन करेंगी।

12, 15 और 18 मार्च को निकलेगी जलेब
उपायुक्त ने कहा कि इस बार शिवरात्रि 11 मार्च को है। महोत्सव के दौरान पहली जलेब 12 मार्च को निकाली जाएगी। दूसरी जलेब 15 और तीसरी व अंतिम जलेब 18 मार्च को निकाली जाएगी।

6 सांस्कृतिक संध्याएं
ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि महोत्वस के दौरान 12 से 17 मार्च तक 6 सांस्कृतिक संध्याएं आयोजित की जाएंगी । इनमें कार्यक्रमों की विविधता व कलाकारों को लेकर में संबंधित उपसमिति फैसला लेगी।

लोगो से सहयोग की अपील
उपायुक्त ने महोत्सव के सफल आयोजन को लेकर सभी लोगो से सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि लोगो के सहयोग से और उनके कोविड 19 अनुरूप व्यवहार के चलते अब कोरोना की स्थिति नियंत्रण में है। हालांकि यह अब भी एक चुनौती है, जिससे निपटने के लिए प्रभावी एसओपी बनाई जाएगी। इसमें लोगो से सहयोग व सहायता अपेक्षित है। उन्होंने आग्रह कियाकि जिस प्रकार हर शिवरात्रि के आयोजन में लोग प्रशासन को बढ़ चढ़ कर सहयोग देते रहे हैं, इस बार भी सी तरह सहयोग व समर्थन करें।

बैठक में जिला परिषद अध्यक्ष पाल वर्मा, पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री, अतिरिक्त जिलादंडाधिकारी श्रवण मांटा, सहायक आयुक्त संजय कुमार, सर्व देवता कमेटी के प्रधान शिव पाल शर्मा, सुमन ठाकुर सहित विभिन्न सामाजिक व सांस्कृतिक संगठनों के प्रतिनिधि व समिति के सरकारी व गैर सरकारी सदस्य उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here