Homeहिमाचलबेसहारा लड़कियों के लिए वरदान बनी मुख्यमंत्री कन्यादान योजना

बेसहारा लड़कियों के लिए वरदान बनी मुख्यमंत्री कन्यादान योजना

हिमवंती/नाहन – हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा गरीब और बेसहारा कन्याओं के लिए चलाई गई मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत जिला सिरमौर के बाल विकास विभाग को वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए 37,07,000 रुपए का बजट प्रदेश सरकार द्वारा प्राप्त हुआ जिसमें से अभी तक 60 लड़कियों की शादी के लिए 30,60,000 रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की गई है जो कुल बजट का 82 प्रतिशत है।
जिला कार्यक्रम अधिकारी आर एस नेगी ने जानकारी देते हुए बताया कि इस योजना द्वारा गरीब लड़कियों के विवाह के लिए 51000 रुपये की वित्तीय सहायता दी जा रही है। यह योजना उन लड़कियों को राहत पहुंचा रही है जिनके माता पिता की मृत्यु हो चुकी हो अथवा शारीरिक रूप से या मानसिक रूप से असमर्थता के कारण वह आजीविका कमाने में असमर्थ हों या परित्यक्त व तलाकशुदा महिलाएं, जिनकी वार्षिक आय 35000 रुपये से अधिक ना हो, उनकी बेटीयों के विवाह में यह योजना बेहद मददगार साबित हो रही है।
उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री कन्यादान योजना एक पहल के रूप में राज्य के लोगों को लाभ पहुंचा रही है जिसमें वह लड़कियां अथवा महिलाएं, जो अनाथ हैं या जिनके माता-पिता अक्षम हैं, वह इस योजना के लिए आवेदन कर सकती है। आवेदक लड़की अथवा महिला हिमाचल प्रदेश सरकार के किसी भी बाल विकास परियोजना अधिकारी या जिला कार्यक्रम अधिकारी के कार्यालय से संपर्क कर सकती हैं। इस योजना का लाभ उठाने के लिए लड़कियों को हिमाचल प्रदेश का स्थाई निवासी होना आवश्यक है। साथ ही लड़की की आयु 18 वर्ष से अधिक व लड़के की आयु 21 वर्ष (जिससे वह शादी कर रही ह) से अधिक होना अनिवार्य है। लड़की को आवेदन के समय उस व्यक्ति का नाम पता जिससे वह शादी कर रही है तथा विवाह निर्धारण साक्ष्य अर्थात आमंत्रण पत्र, पंचायत से प्रमाण पत्र आदि देना होगा। साथ में तहसीलदार से सत्यापित आय प्रमाण पत्र, हिमाचली प्रमाण पत्र, यदि पिता रोग या विकलांगता से ग्रस्त है तो सक्षम चिकित्सा अधिकारी का प्रमाण पत्र साथ लगाना होगा।
आर एस नेगी ने बताया कि जमीनी स्तर पर आंगनवाडी कार्यकर्ता द्वारा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को संबंधित सीडीपीओ या जिला कार्यक्रम अधिकारी के कार्यालय में सभी प्रमाण पत्रों के साथ आवेदन करना होता है।
लाभार्थियों की जुबानी
मुख्यमंत्री कन्यादान योजना की लाभार्थी लखविन्द्र कौर निवासी एमसी कॉलोनी नाहन ने बताया कि उनके पति की मृत्यु तीन साल पहले हुई थी जिसके बाद परिवार की आर्थिक स्थिति खराब हो गई और बेटी की शादी के लिए पैसों की सहायता की आवश्यकता थी जो उन्हें मुख्यमंत्री कन्यादान योजना से प्राप्त हुई। इसी तरह गांव शम्भुवाला की निवासी चरणजीत कौर ने बताया कि उनके पति की मृत्यु 14 वर्ष पहले हो गई थी जिसके बाद परिवार की पूरी जिम्मेवारी इनके उपर आ गई। आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण दो बेटियों की शादी के लिए पैसों की आवश्यकता थी जो उन्हें मुख्यमंत्री कन्यदान योजना से प्राप्त हुई। इस योजना के तहत मिली सहायता के लिए उन्होंने प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर का आभार व्यक्त किया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments