Homeहिमाचलराजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय उदयपुर का उपायुक्त ने किया औचक निरीक्षण

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय उदयपुर का उपायुक्त ने किया औचक निरीक्षण

चम्बा ( प्रे.वि )
उपायुक्त चंबा विवेक भाटिया ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय उदयपुर का औचक निरीक्षण किया । औचक निरीक्षण के दौरान विद्यालय के प्रिंसिपल और अध्यापकों से उपायुक्त ने परीक्षा के नतीजों को लेकर ब्योरा लिया। उपायुक्त ने प्री बोर्ड परीक्षाओं के नतीजों पर असंतुष्टता जाहिर करते हुए विद्यालय के प्रिंसिपल को इस दिशा में व्यवहारिक प्रयास करने के निर्देश दिए ताकि वार्षिक परीक्षा में विद्यालय के शत-प्रतिशत परिणाम देखने को मिलें । उन्होंने अंग्रेजी विषय को लेकर भी विशेष प्रयास करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि वे आगे भी स्वयं जिले के विभिन्न विद्यालयों के औचक निरीक्षण अमल में लाएंगे ताकि जमीनी हकीकत से वाकिफ हुआ जा सके। उन्होंने अध्यापकों के साथ इंटरेक्शन के दौरान इस बात की जरूरत पर भी जोर दिया कि अध्यापक कक्षाओं में ग्रुप आधारित गतिविधियों और नियमित टेस्टों के आयोजन से विद्यार्थियों के लिए लर्निंग आउटकम को बढ़ाने की दिशा में भी काम करें । उपायुक्त ने इस दौरान विद्यालय के जमा एक और दो कक्षाओं के विद्यार्थियों के साथ भी सीधा संवाद कायम किया। उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन ने जमा एक और दो कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए परीक्षा मित्र फेसबुक पेज शुरू किया है । परीक्षा मित्र के साथ चंबा जिला के विशेषज्ञ अध्यापकों के अलावा बिलासपुर जिले के भी अध्यापक जुड़े हुए हैं । अध्यापकों की एक टीम नियमित आधार पर मेडिकल और नॉन मेडिकल विषयों के बड़े ही उपयोगी नोट्स इसमें शेयर करते हैं। इन तमाम नोट्स को पीडीएफ फाइलों में बदलने के बाद इसके प्रिंटआउट भी स्कूलों को उपलब्ध करवाए जाएंगे ताकि अध्यापक विद्यार्थियों के साथ इन्हें साझा कर सकें । उन्होंने कहा कि यह नोट्स विद्यालय की आईसीटी लैब के माध्यम से भी विद्यार्थियों तक पहुंचाए जा सकते हैं। विद्यार्थियों के साथ करीब 2 घंटे तक चले इस संवाद में उपायुक्त ने शिक्षा से लेकर परीक्षा से जुड़े विभिन्न पहलुओं से विद्यार्थियों को अवगत करवाया। विवेक भाटिया ने यह भी कहा कि जिले के स्कूलों में आंख, कान के अलावा एनीमिया जांच की भी नियमित व्यवस्था को लेकर निर्देश दिए जाएंगे । उन्होंने विशेषकर किशोर और किशोरियों की एनीमिया जांच पर भी बल दिया। विद्यार्थियों को अपने स्कूली जीवन में जंक फूड के बजाय पौष्टिक डाइट को हमेशा तरजीह देनी चाहिए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments