हिमाचल के इन जिलों में बनेंगे हॉटस्पॉट, नहीं मिलेगी कोई छूट

0
234

शिमला ( प्रे.वि )
हिमाचल सरकार ने गुरुवार को प्रदेश में पांच जिलों में कोरोना हाटस्पाट चिन्हित करने का फैसला लिया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रदेश में कोरोना वायरस के हाटस्पाट सील किए जाएं, जिससे कि यह संक्रमण फैल न सके। उन्होंने कहा कि वर्तमान में ऐसे हाटस्पाट कांगड़ा, चंबा, सिरमौर, सोलन और ऊना जिलों में हैं। हालांकि, इन जिलों में हाटस्पाट की संख्या अभी स्पष्ट नहीं है। जयराम ठाकुर ने कहा कि इन हाटस्पाट में कर्फ्यू में कोई छूट नहीं दी जाएगी। हाटस्पाट में आवश्यक वस्तुओं को होम डिलीवरी के माध्यम से प्रदान किया जाना चाहिए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे अपने-अपने जिलों में होम डिलीवरी सिस्टम को मजबूत करें। इन क्षेत्रों में वाहनों को चलाने पर प्रतिबंध रहेगा। सभी के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार लोगों को मास्क की उपलब्धता सुनिश्चित करेगी। यह कदम कोरोना को फैलने से रोकने में मददगार साबित होगा। उन्होंने गैर सरकारी संगठनों से राज्य के लोगों को घर पर बने मास्क प्रदान करने में आगे आने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने राज्य के सभी प्रमुख धार्मिक स्थलों में तुरंत सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिए। इससे ऐसे लोगों का पता लगाने में मदद मिलेगी जो सरकार के आदेशों की अवहेलना करते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ऐसे उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। वहीं, प्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर कोरोना टेस्ट के लिए एक और किट उपलब्ध कराने की मांग की है। इस किट को पालमपुर में स्थापित किया जाएगा। हिमाचल में आईजीएमसी, टांडा और कसौली में ही कोरोना किट उपलब्ध है। अभी आईजीएमसी और टांडा कालेज में जांच की जा रही है जबकि जिला सोलन और सिरमौर के सैंपल अभी भी जांच को शिमला आईजीएमसी भेजे जा रहे हैं। कोरोना किट में एक साथ 22 सैंपलों की जांच की जा सकती है। ऐसे में बारी-बारी सैंपल की जांच करनी पड़ती है। रिपोर्ट आने में कम से कम चार घंटे का समय लगता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here