Homeहिमाचलभारतीय संस्कृति का प्रतीक है अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस-डॉ0 राजीव बिंदल

भारतीय संस्कृति का प्रतीक है अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस-डॉ0 राजीव बिंदल

हिमवंती मीडिया/नाहन – 7वें अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष पर आज शिमला से ऑनलाइन माध्यम के द्वारा मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने योग अभ्यास किया जिसमें जिला मुख्यालय नाहन से विधायक नाहन एवं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ0 राजीव बिंदल, उपायुक्त सिरमौर डॉ0आर0के0परूथी, पुलिस अधीक्षक के0 सी0 शर्मा सहित अन्य लोगों ने भाग लिया।
यहां एसएफडीए हॉल, नाहन में आयुष विभाग की ओर से आयोजित सातवें अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योग अभ्यास करनें के उपरान्त विधायक नाहन एवं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ0 राजीव बिंदल ने कहा कि अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस भारतीय संस्कृति का प्रतीक है।
उन्होंने कहा कि जीवन में सकारात्मकता और शरीर को ऊर्जावान बनाए रखने के लिए योग को महत्वपूर्ण माना जाता है। इस दिन को मनाने का उद्देश्य योग के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करने के साथ लोगों को तनाव मुक्त करना भी है। योग, भारतीय ज्ञान की पांच हजार वर्ष पुरानी विरासत है, जिसके प्रणेता महर्षि पतंजलि को माना जाता है। योग साधना में जीवन शैली का पूर्ण सार समाहित किया गया है।
डॉ0 बिंदल ने कहा कि हमारे देश के अनेक योगियों जिनमें स्वामी विवेकानंद, स्वामी श्रद्धा नन्द, बाबा रामदेव और श्री श्री रविशंकर ने दुनिया में योग का प्रचार-प्रसार करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों से ही योग को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिली है जिसके परिणाम स्वरूप 21 जून को अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में हर वर्ष मनाया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि आज पूरा विश्व योग की महत्ता को समझ रहा है। जीवन किस प्रकार से जीना है, जीवन का ज्ञान, आयु का ज्ञान, योग के माध्यम से विश्व को पता चला है। आज न केवल भारत, अपितु विश्व के 145 देश योग की सीमाओं के अतंर्गत आ चुके हैं। उन्हांेने निरोगी जीवन यापन करने के लिए लोगों को योग करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि धर्म, अर्थ, काम व मोक्ष चार पुरुषार्थों की प्राप्ति केवल स्वस्थ शरीर व स्वस्थ मन से हो सकती है। उन्होंने बताया कि हर साल योग दिवस अलग थीम के आधार पर मनाया जाता है। इस साल 2021 की थीम है ‘बी विद योग, बी एट होम’ होगी यानी ‘योग के साथ रहें, घर पर रहें।
कार्यक्रम के दौरान डॉ0 बिंदल ने कोरोना से बच्चों के बचाव हेतु आयुष्मान् भव पुस्तिका का विमोचन भी किया। इस पुस्तिका को आयुष विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, जिला ग्रामीण विकास अभिकरण व शिक्षा विभाग द्वारा तैयार किया गया है।
इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त प्रियंका वर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0के0के0पराशर, अधीक्षण अभियन्ता जल शक्ति विभाग जे0एस0 चौहान, जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ0 राजेन्द्र देव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments