विपिन सिंह परमार पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन में भाग लेने के लिए गुजरात राज्य के प्रवास पर

0
25

 

 

शिमला(ब्यूरो):-  हिमाचल प्रदेश विधान सभा के अध्यक्ष विपिन सिंह परमार पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन में भाग लेने के लिए गुजरात राज्य के प्रवास पर हैं। उनके साथ इस सम्मेलन में भाग लेने के लिए विधान सभा उपाध्यक्ष हंस राज भी मौजूद हैं। गौरतलब है कि गुजरात राज्य के केवड़िया में  यह सम्मेलन आयोजित किया गया जबकि सम्मेलन उपरान्त भ्रमण के लिए निर्धारित किया गया है। इस सम्मेलन में भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एवं सभापति राज्यसभा, अध्यक्ष लोक सभा, मुख्यमंत्री गुजरात तथा राज्यपाल गुजरात तथा कई राज्यों की विधान सभाओं  अध्यक्ष शामिल थे। सम्मेलन के समापन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपना वर्चुअल संबोधन दिया।

परमार ने “विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका के मध्य सामंजस्यपूर्ण समन्वय- जीवंत लोकतंत्र का आधार” विषय पर सम्मेलन को संबोधित किया। परमार ने अपने विचार रखते हुए कहा कि विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका किसी भी लोकतांत्रिक व्यवस्था के तीन विशिष्ट अंग हैं।  प्रत्येक सम्बन्धित क्षेत्र में अपने-अपने कार्य हैं और प्रत्येक अंग को संविधान में शक्तियां प्राप्त हैं। संविधान प्रत्येक की भूमिका, कार्यों और सीमाओं को प्रभावित करता है। किसी विशेष अंग में शक्ति केंन्द्रित न हो  इस उद्देश्य से प्रत्येक अंग के अन्त:  संबंध, नियंत्रण एवं संतुलन हेतु संविधान द्वारा निर्धारित किए गए हैं।

इस अवसर पर संबोधित करते हुए परमार ने धर्मशाला स्थित तपोवन विधान सभा भवन में राष्ट्रीय ई-विधान अकादमी खोलने पर बल दिया तथा कहा कि इससे भवन का सदुपयोग होगा तथा माननीय सांसदों, अधिकारियों तथा राज्य विधान सभाओं के सदस्यों को ई-विधान बारे प्रशिक्षित किया जा सकेगा।

 इस दौरान परमार ने कहा कि पीठासीन अधिकारियों का अगला सम्मेलन हिमाचल प्रदेश में आयोजित किया जाए जिसके लिए हमारे पास धर्मशाला तथा शिमला में विधान सभा के दो भवन है और हम दोनों में से किसी भी जगह इसे आयोजित करने में सक्षम है।

सम्मेलन के दौरान विपिन सिंह परमार तथा हंस राज अन्य राज्यों के विधान सभा अध्यक्षों तथा अन्य प्रतिभागियों के साथ भ्रमण करने  हेतु सरदार पटेल प्रतिमा स्थल तथा अन्य महत्वपूर्ण एवं रमणीय स्थलों पर गये। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here