हिमाचलियों के गौरव जगत प्रकाश नड्डा (राष्ट्रीय अध्यक्ष, भाजपा)

0
130

जगत प्रकाश नड्डा भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेताओं में से एक है जगत प्रकाश नड्डा का ताल्लुक भारत के हिमाचल प्रदेश राज्य से है अपनी काबिलियत के दम पर जगत प्रकाश नड्डा ने आज बीजेपी पार्टी में अपना एक ऊंचा कद बनाया है। वरिष्ठ भाजपा नेता, पूर्व केन्द्रीय मंत्री,ं भाजपा के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं हाल ही में बने भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा हिमाचल प्रदेश से राज्यसभा में सांसद हैं और संसदीय बोर्ड के सचिव भी हैं। हिमाचल को पहली बार किसी राष्ट्रीय पार्टी में इतना बड़ा पद मिलने से भाजपा और मजबूत होगी। भारत के इतने छोटे राज्य से नाता रखने वाले नड्डा को भारतीय जनता पार्टी की ओर से 2014 में देश के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय संभालने को मिला । नड्डा हिमाचल प्रदेश की राजनीति में काफी सक्रिय हैं।
ब्राह्मण परिवार से ताल्लुक रखने वाले जगत प्रकाश नड्डा का जन्म 2 दिसंबर 1960 में बिहार की राजधानी पटना में हुआ था। जगत प्रकाश नड्डा ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा और बीए की डिग्री पटना के कॉलेज से हासिल की है वहीं इन्होंने एलएलबी की डिग्री हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी से प्राप्त की इनके पिता पिता डॉ. नारायण लाल और माता श्रीमती कृष्णा देवी हैं । पिता नारायण लाल पटना विश्वविद्यालय के कुलपति थे। इनका विवाह सन 1991 में मल्लिका से हुआ जो कि हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में कार्य करती है। मल्लिका के पिता भी जबलपुर से लोकसभा सांसद रह चुके हैं और इनके के दो बच्चे है।
जगत प्रकाश नड्डा के राजनीतिक सफर की शुरुआत 1975 में जेपी आंदोलन से हुई थी। देश के सबसे बड़े आंदोलनों में गिने जाने वाले इस आंदोलन में भी भाग गया था। इस आंदोलन में भाग लेने के बाद जगत प्रकाश नड्डा बिहार की बीजेपी की छात्र शाखा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में शामिल हो गए थे । इसके बाद उन्होंने 1977 में अपने कॉलेज में छात्र संघ का चुनाव लड़ा और इस चुनाव को जीतकर पटना विश्वविद्यालय से स्नातक होने के बाद उन्होंने हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में एलएलबी की पढ़ाई शुरू कर दी इस दौरान उन्होंने हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय मैं भी छात्र संघ का चुनाव लड़ा और उसमें जीत हासिल की बीजेपी द्वारा नड्डा को साल 1991 में अखिल भारतीय जनता युवा मोर्चा का राष्ट्रीय महासचिव बनाया गया हिमाचल प्रदेश में 1993 में 9 विधानसभा की बिलासपुर सीट से चुनाव लड़ा और उस सीट पर अपनी जीत दर्ज दर्ज की जिसके बाद उन्हें प्रदेश की विधानसभा में विपक्ष का नेता चुना गया था इसी तरह साल 1998 और 2007 में इस सीट से फिर नड्डा ने चुनाव लड़ा और जीत हासिल की वहीं उन्हें इस दौरान प्रदेश की कैबिनेट में भी जगह मिली उन्हें साल 1998 में हिमाचल प्रदेश का स्वास्थ्य मंत्रालय दिया गया और 2007 में 1 पर्यावरण और संसदीय मामलों के मंत्री रहे जिस तरह ने बीजेपी पार्टी के कार्य किया उसे देखते हुए पार्टी ने 2012 में जगत प्रकाश नड्डा को प्रदेश की ओर से राज्यसभा में भेजा और राज्यसभा के सांसद के रूप में कार्य कर रहे हैं इसके अलावा परिवहन और संस्कृति के सदस्य भी रहे हैं तथा बीजेपी पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव भी नियुक्त किया गया । नड्डा ने कई देशों का दौरा भी किया जिनमें अमेरिका कोस्टा रिका कतर कनाडा है ग्रीस और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों के नाम शामिल है इन देशों में जाकर उन्होंने यहां पर किए जाने वाले चुनाव प्रक्रिया स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली आदि चीजों का अध्ययन किया । 2014 में मोदी सरकार द्वारा कैबिनेट में बतौर मंत्री चुने गये तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के स्वास्थ्य मंत्रालय की बागडोर भी इन्हें सौंप दी। नड्डा ने अपनी पढ़ाई के दिनों में दिल्ली में आयोजित अखिल भारतीय जूनियर स्विमिंग चैंपियनशिप में बिहार राज्य की ओर से प्रतिनिधित्व किया , इतना ही नहीं हिमाचल प्रदेश के ओलंपिक संघ के राष्ट्रपति भी है तथा एड्स को विश्व तंबाकू नियंत्रण के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन में विशेष मान्यता पुरस्कार प्राप्त हुआ था। जगत प्रकाश नड्डा आज विश्व के सबसे बड़े राजनीतिक दल भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने चुके हैं। यह हिमाचल जैसे छोटे राज्य के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here