प्रोत्साहन योजना के तहत प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये मिलते हैं एक लाख रुपये- सरवीण

0
128

धर्मशाला ( प्रे.वि )
शहरी विकास, आवास एवं नगर नियोजन मंत्री सरवीण चौधरी ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला रजोल के वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह में बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोर मेधावी छात्रों को जमा दो तथा ग्रेजुएशन के उपरांत प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग के लिए मेधा प्रोत्साहन योजना आरम्भ की है । इस योजना में मेधावी विद्यार्थियों को मेडिकल और इंजीनियरिंग सहित सभी प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग के लिए एक लाख रुपये प्रदान करने का प्रावधान किया गया है । उन्होंने कहा कि बेहतर शिक्षा सभी के लिए जीवन में आगे बढ़ने और सफलता प्राप्त करने के लिए बहुत आवश्यक है यह आत्मविश्वास विकसित करती है और व्यक्ति के व्यक्तित्व निर्माण में मदद करती है उचित शिक्षा हमारे ज्ञान के स्तर, तकनीकी कौशल और किसी अच्छे संस्थान में उच्च पद को प्राप्त करने के लिए हमें सामाजिक,मानसिक,और बौद्धिक रूप से मजबूत बनाती है। उन्होंने कहा कि अच्छे परीक्षा परिणाम के लिए अध्यापकों के साथ साथ उनके अभिभावकों व बच्चों को भी प्रयास करने होंगे । इसके उपरान्त शहरी विकास मंत्री ने मेधावी विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया । शहरी विकास मंत्री ने सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए स्थानीय स्कूल को 15 हजार रुपये व राजकीय प्राथमिक पाठशाला रजोल को तीन हजार रुपये देने की घोषणा की । इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री ने अखण्ड शिक्षा ज्योति मेरे स्कूल से निकले मोती के तहत बलवन्त मन्हास, ओंकार चौधरी व किशोर चौधरी को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया । स्कूल के प्रधानाचार्य ने मुख्यातिथि व अन्य मेहमानों का स्वागत किया व स्कूल की वार्षिक रिपोर्ट पढ़ी व स्कूल की विभिन्न गतिविधियों बारे जानकारी दी । स्कूल के डीपी बलवीर ने मंच संचालन किया । स्कूल के विद्यार्थियों द्वारा पहाड़ी, पंजाबी, योग, स्वच्छ भारत इत्यादि पर कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here